पिता की मौत पर बेटी ने डॉक्टर को चप्पल से पीटा

0
237

देहरादून : कोरोनेशन अस्पताल में उपचार कराने के बाद घर पहुंचे राजमिस्त्री की मौत हो गई। परिजनों ने डाक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए अस्पताल में हंगामा किया। इस दौरान कुछ लोगों ने डाक्टर के साथ मारपीट कर दी। मृतक की बेटी ने डाक्टर को चप्पल से भी मारने का प्रयास किया । सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। डाक्टर के साथ मारपीट के बाद अस्पताल में पूर्ण रूप से कार्य बहिष्कार हो गया। जिससे मरीजों को भारी दिक्कत का सामना करना पड़ा।

शहीद राजेश रावत कॉलोनी निवासी राजमिस्त्री राजेश कुमार (48) को पिछले कुछ दिनों से दायें हाथ में दर्द था। सोमवार सुबह दस बजे वो कोरोनेशन अस्पताल की ओपीडी में दिखाने आए। वहां डा. सुनील कुमार वर्मा ने राजेश कुमार को देखा और दर्द निवारक इंजेक्शन लगाकर घर भेज दिया। घर पहुंचकर राजेश कुमार को पसीना आने लगा और घबराहट होने लगी।

परिजन कुछ समझ पाते, इससे पहले राजेश ने दम तोड़ दिया। परिजन राजेश को दुबारा कोरोनेशन अस्पताल ले आए। वहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इससे परिजन नाराज हो गए और उन्होंने डाक्टर सुनील कुमार वर्मा पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए धक्का मुक्की शुरू कर दी।

इसी दौरान मृतक की बेटी ने उन्हें चप्पल से पीटना शुरू कर दिया।डाक्टर वर्मा को हल्की चोटें भी आई।  ये देखकर कोेरोनेशन अस्पताल के कर्मचारी भी भड़क गए और कार्य बहिष्कार कर दिया। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और मामला शांत किया। दोनों पक्षों ने एक दूसरे के खिलाफ डालनवाला थाने में तहरीर दी है।

सीएमएस कोरोनेशन डा. भारती राणा ने कहा
डाक्टरों के साथ मारपीट बर्दाश्त नहीं की जाएगी। डाक्टर ने मरीज को केवल दर्द निवारक इंजेक्शन लगाया था। उसके बाद डा. वर्मा ने मरीज को आधा घंटा अस्पताल में ही रुकने को भी कहा था। लेकिन मरीज घर चल गया। इससे डाक्टर की क्या लापरवाही है। वहीं कुछ नेता टाइप के लोग भीड़ का भड़का भी रहे थे। इस संबंध में हमने पुलिस को रिपोर्ट दी है।

मृतक की पत्नी आशा देवी ने कहा
–    मेरे पति को हाथ में दर्द था। वो खुद ही अस्पताल गए थे। यहां उन्हें गलत इंजेक्शन लगा दिया गया। उसके बाद वो घर पहुंचे और तड़पने लगे। जिससे उनकी मौत हो गई।

loading...