संक्रांति तक जारी रहेगी कोहरे के साथ गलन

0
273

पश्चिमी बंगाल से चलने वाली हवाएं व धुंध के चलते लगातार गलन बरकार है, यहां तक कि दोपहर में भी सूरज की किरणें फीकी पड़ जाती है। जिससे लोग घर में कैद होने को मजबूर हो रहें है। मौसम विभाग का कहना है कि अभी यह गलन मकर संक्रांति तक बरकरार रहने की संभावना है।

800x480_image60895973
कोहरे के साथ गलन की जुगलबंदी बीते एक सप्ताह से लोगों पर सितम ढहा रही है। जिससे सुबह वाहन रेगेने को तो मजबूर हो ही रहें है, मॉर्निंग वाकर व राहगीर भी जूझ रहें हैं। कोहरे का आलम यह है कि 100 मीटर में भी कुछ दिखाई नहीं पड़ रहा है। दिन होने के बाद भी वाहनों को हेड लाइट जलाने को मजबूर रहें।

बताया जा रहा है कि पूर्वी हवाओं के चलते पहाड़ों की बर्फवारी का असर यहां पर आ रहा है। जिससे गलन बढ़ रही है तो वहीं कोहरा भी बढ़ रहा है। बताया कि मकर संक्रांन्ति तक ऐसा ही मौसम बरकरार रहेगा। इसके साथ ही कहा कि मटर, आलू, अरहर के लिए कोहरा या पाला बहुत नुकसान दायक है। पर गेंहू के साथ चना व मसूर के लिए फायदेमंद है।

loading...